DDN NEWS | मप्र भाजपा ने की अनुसूचित जाति मोर्चा जिलाध्यक्षों की घोषणा, डिंडौरी में परसराम नागेश को सौंपी गई जिम्मेदारी

  • एक महीने में डिंडौरी भाजपा को मिले चार मोर्चों के जिलाध्यक्ष, अब युवा मोर्चा अध्यक्ष पर टिकी निगाहें



डीडीएन रिपोर्टर | डिंडौरी

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) प्रदेशाध्यक्ष विष्णुदत्त शर्मा की सहमति से मंगलवार को अनुसूचित जाति मोर्चा के जिलाध्यक्षों की घोषणा की गई है। अजा मोर्चा प्रदेशाध्यक्ष डॉ. कैलाश जाटव ने डिंडौरी जिलाध्यक्ष की कमान परसराम नागेश को सौंपी है। भाजपा जिलाध्यक्ष नरेंद्र सिंह राजपूत ने नियुक्ति पर प्रसन्नता जाहिर की और नवनियुक्त जिलाध्यक्ष से संगठन की रीति-नीति के मुताबिक कार्य करने की उम्मीद जताई। वहीं, जिला इकाई सहित मंडल और बूथ स्तर के भाजपाइयों ने 
परसराम नागेश को शुभकामनाएं दीं।

एक महीने में डिंडौरी भाजपा को मिले चार मोर्चों के जिलाध्यक्ष

बता दें कि नवंबर महीने में डिंडौरी भाजपा को चार मोर्चों के जिलाध्यक्ष मिल चुके हैं। 24 नवंबर को नरबदिया मरकाम महिला मोर्चा जिलाध्यक्ष चुनी गईं। 23 नवंबर को शेख नवाब मंसूरी अल्पसंख्यक मोर्चा जिलाध्यक्ष बने और 01 नवंबर को महेश सिंह धूमकेति को अजजा मोर्चा की कमान सौंपी गई थी। 
वहीं, आज अजा मोर्चा के जिलाध्यक्ष की भी नियुक्ति हो गई। अब जिले में युवा मोर्चा अध्यक्ष की घोषणा को लेकर गहमागहमी चल रही है। युवा मोर्चा ने प्रदेश के कई जिलों में अध्यक्ष घोषित कर दिए हैं। उम्मीद जताई जा रही है कि जल्द ही डिंडौरी जिलाध्यक्ष का नाम भी सामने आ जाएगा।

पार्टी की ओर से जारी जिलाध्यक्षों की सूची 👇



Comments
Popular posts
Appointment | डिंडौरी डिस्ट्रिक्ट हॉस्पिटल में हेल्थ ऑफिसर डॉ. देवेंद्र सिंह मरकाम को राज्य शासन ने बनाया MPPSC का सदस्य
Image
CoViD UPDATE | डिंडौरी जिले में करीब सात महीने बाद कोरोना की वापसी, सोमवार को मिले 07 संक्रमित; मेहंदवानी 03 + डिंडौरी 01 + शहपुरा 01 + विक्रमपुर 01 + समनापुर 01
Image
DDN UPDATE | बजाग ब्लॉक के गाड़ासरई कस्बे में मारुति ईको कार से अज्ञात बदमाशों ने उड़ाए ₹3 लाख 2 हजार नकद, पीड़ित ने पुलिस से की शिकायत
Image
PRIDE OF DINDORI | 57 असम रेजिमेंट में जॉइन होकर डिंडौरी पहुंचे जिले के पहले लेफ्टिनेंट दिव्यांश जैन, नगरवासियों ने कॉलेज तिराहे से खनूजा कॉलोनी तक निकाली भव्य स्वागत रैली
Image
सहस्त्रधारा... यहां राजा सहस्त्रार्जुन ने अपने एक हजार हाथों से की थी मां नर्मदा के प्रवाह को रोकने की कोशिश
Image