डिंडौरी | जिले के नेवसा पोंड़ी में पंचायत कार्य की खुदाई के दौरान मिले प्राचीनकालीन चांदी के मोहरनुमा सिक्के, SP संजय सिंह ने कहा : पुरातत्व विभाग को सौंपेंगे

  • पुलिस ने सिक्के बरामद कर पुरातत्व विभाग को दी सूचना, जांच के बाद ही असल समय-लिपि के बारे में मिल सकेगी पुख्ता जानकारी

  • सिक्कों पर अंकित प्राचीन लिखावट (लिपि/भाषा) के आधार पर फिलहाल मुगलकालीन मोहरें होने के लगाए जा रहे कयास 



राम कृष्ण गौतम | डिंडौरी/नेवसा


डिंडौरी जिले के नेवसा पोंड़ी में ग्राम पंचायत निर्माण कार्य की खुदाई के दौरान शुक्रवार को जमीन से प्राचीनकाल के करीब दर्जनभर मोहरनुमा सिक्के निकले हैं। सिक्कों का आकार अलग-अलग है और इन पर दोनों तरफ काफी पुरानी लिखावट अंकित है, जो संभवत: 15वीं-16वीं सदी की लिपि (या भाषा) हो सकती है। इसकी पुष्टि डिंडौरी SP संजय कुमार सिंह ने शनिवार की शाम डिंडौरीडॉटनेट से बातचीत में की। उन्होंने बताया, डिंडौरी ब्लॉक की ग्राम पंचायत नेवसा के टिकरा टोला में निर्माण कार्य के लिए खुदाई की जा रही थी। उसी क्रम में मोहरनुमा चांदी के सिक्के छोटे से घड़ेनुमा पात्र में बंद जमीन में दबे मिले। विशेष बनावट के यह पात्र भी काफी पुराने समय के लगते हैं। खुदाई करने वाले मजदूरों ने पात्र खोला तो उसमें से करीब दर्जनभर सिक्के निकले।



पुलिस ने बरामद किए सिक्के, पुरातत्व विभाग को दी सूचना


डिंडौरी पुलिस ने खुदाई स्थल से सिक्के बरामद कब्जे में ले लिया है। SP संजय सिंह ने पुरातत्व विभाग के अधिकारियों से चर्चा कर आगे की कार्यवाही शुरू कर दी है। जल्द ही सिक्के पुरातत्व विभाग को सौंप दिए जाएंगे। इनके कालखंड और लिपि के बारे में पुख्ता जानकारी जांच के बाद ही सामने आ सकेगी। हालांकि सिक्कों पर अंकित लिखावट (लिपि) के आधार पर फिलहाल मुगलकालीन मोहरें होने के कयास लगाए जा रहे हैं। इनकी तस्वीरें शुक्रवार को सबसे पहले सोशल मीडिया ग्रुप 'हमारा डिंडौरी जिला- मध्यप्रदेश' पर स्थानीय युवक उमेश कुमार नंदा ने पोस्ट की थी। 




  • यहा देखें ऐतिहासिक काल के चांदी के सिक्कों का वीडियो






 


Comments
Popular posts
हल्दी करेली... डिंडौरी के मिनी गोवा में परिवार के साथ उठाइए आउटिंग का आनंद मगर गंदगी न फैलाएं
Image
Social Concern | डिंडौरी के सुबखार निवासी मजदूर परिवार की बेटी को यूट्रस में थे ट्यूमर, महीनों इलाज के लिए भटके माता-पिता; नागपुर के डॉ. शशिकांत रघुवंशी ने फ्री ऑपरेशन कर बचाया जीवन
Image
श्रीऋणमुक्तेश्वर मंदिर कुकर्रामठ... यहां स्थापित शिवलिंग के दर्शन करने से मिलती है पितृ-देव-गुरु-ऋण से मुक्ति
Image
1857 की क्रांति में डिंडौरी के वीर-वीरांगनाओं ने अंग्रेजों को कई बार चटाई धूल, 1500 ईस्वी पहले माहिष्मती नगरी था मंडला
Image
Dindori Needs Railways | डिंडौरी को रेलवे लाइन से जोड़ने के लिए डिंडौरी डेवलपमेंट फेडरेशन ने SDM महेश मंडलोई को सौंपा सीएम के नाम ज्ञापन
Image