PUBLIC AWARENESS | डिंडौरी के सभी वार्डों में 'आज़ादी का अमृत महोत्सव' के तहत नगर परिषद ने शुरू किया 'कचरा पृथकीकरण' अभियान, होम कम्पोस्टिंग के बारे में दी गई जानकारी



डीडीएन रिपोर्टर | डिंडौरी

डिंडौरी नगर परिषद की ओर से शहर के सभी 15 वार्डों में मंगलवार को 'आज़ादी का अमृत महोत्सव' के तहत 'कचरा प्रथकीकरण' अभियान का शुभारंभ किया गया। इसके तहत वार्डों में निवासरत नागरिकों को होम कम्पोस्टिंग अपनाने की सलाह और खुले में कचरा न फेंकने की समझाइश दी जा रही है। ताकि आसपास का वातावरण स्वच्छ रहे और बीमारियों के खतरे को कम किया जा सके। अभियान से जुड़कर प्रत्येक वार्ड में जन जागरुकता प्रसारित करने में नगर के युवा स्वच्छताग्रही भी सक्रिय योगदान दे रहे हैं। वहीं, नप अमले ने स्वच्छता का संदेश देकर लोगों को 'स्वच्छ डिंडौरी' का संकल्प भी दिलाया। स्वच्छता के लिए श्रेष्ठ योगदान देने वाले जागरूक युवाओं को प्रशस्ति पत्र देकर उनका उत्साहवर्धन किया गया।अभियान में नप CMO राकेश शुक्ला सहित युवा पार्षद आबिद रजा (सैफी) खान, पार्षद मोहन नरवरिया, समाजसेवी दिनेश बर्मन, सुरेंद्र शुक्ला, अशोक चौकसे, पवन साहू, संतोष नामदेव और नप स्टाफ ने सक्रिय योगदान दिया।



नागरिकों को दी गई डिकम्पोस्टिंग अपनाने की सलाह

पार्षद सैफी खान ने कहा कि देश में रोजाना लगभग 1.5 लाख मीट्रिक टन यानि 15 करोड़ किलोग्राम कचरा निकलता है, जिसमें से 80% कचरे का निस्तारण आसानी से नहीं हो पाता। यह सड़कों पर या डम्पिंग एरिया में सालों तक पड़ा रहता है और धीरे-धीरे पहाड़ का रूप ले लेता है। इससे बचाव के लिए कम्पोस्टिंग सबसे कारगर उपाय है। ऑर्गेनिक या खाद्य पदार्थों की डिकम्पोजिंग को कम्पोस्टिंग कहा जाता है। यही प्रक्रिया डिंडौरी के नागरिकों को अपनाने की सलाह दी गई। आसान शब्दों में कहें तो इसमें सूक्ष्म जीवों द्वारा हवा और पानी की मदद से इन पदार्थों को विघटित करके खाद में बदल दिया जाता है, जो पौधों के लिए लाभकारी होता है।
Comments
Popular posts
विश्व आदिवासी दिवस पर जयस संदेश | क्रांति की चिंगारी जल चुकी है, ज्वाला का रूप जरा हम दे जाएं... न बुझे संघर्ष की ज्वाला, जन-जन तक संदेश पहुचाएं...
Image
विश्व आदिवासी दिवस विशेष | जल, जंगल और ज़मीन के सिरमौर आदिवासी, परंपरा और सभ्यता के लिए जान न्योछावर करने वाला समुदाय
Image
फैक्ट चैक | गलत अर्थ के साथ वायरल हो रहा श्रीरामचरित मानस का दोहा-चौपाई, बनारस के विद्वानों ने बताई सच्चाई
Image
सहस्त्रधारा... यहां राजा सहस्त्रार्जुन ने अपने एक हजार हाथों से की थी मां नर्मदा के प्रवाह को रोकने की कोशिश
Image
EDU INFO | RN Classes दे रहा है यूपीएससी/आईएएस और एमपीपीएससी की निशुल्क तैयारी का सुनहरा अवसर, जॉइन करें 100% फ्री स्कॉलरशिप टेस्ट
Image