BIG IMPACT | डिंडौरी के युवा एडवोकेट सम्यक जैन ने राष्ट्रपति तक पहुंचाया केवलारी रैयत के संगम टोला और कछरा टोला के नागरिकों का दर्द

  • डिंडौरीडॉटनेट ने 19 जून 2020 को प्रमुखता से प्रकाशित किया था मामला, आज़ादी के वर्षों बाद भी मूलभूत सुविधाओं को तरस रहे ग्रामीण


  • एडवोकेट सम्यक ने 16 अगस्त को राष्ट्रपति को भेजी थी लैटर पिटीशन, राष्ट्रपति भवन से सीएम हेल्पलाइन को भेजे गए निर्देश




डीडीएन रिपोर्टर | डिंडौरी/भोपाल 

डिंडौरी के मां नर्मदा गंज निवासी युवा एडवोकेट सम्यक जैन की पिटीशन पर राष्ट्रपति भवन ने संज्ञान लेकर मध्यप्रदेश सीएमओ को निर्देश भेजे हैं। सीएमओ ने डिंडौरी जनपद पंचायत सीईओ गणेश पांडेय को पत्र भेजकर निराकरण कराने को कहा है। एडवोकेट सम्यक ने 16 अगस्त को जिले के ग्राम केवलारी रैयत के संगम टोला और कछरा टोला की मूलभूत समस्याओं को लेकर राष्ट्रपति को लैटर पिटीशन भेजी थी। आज़ादी के दशकों बाद भी यहां के 80 परिवारों को बिजली-पानी का इंतजार है। सड़क का नामोनिशान नहीं है। बारिश के दिनों में ग्रामीण बच्चों को नदी तैरकर स्कूल जाना पड़ता है। स्वास्थ्य सेवाएं शून्य हैं। मरीज को खाट पर ले जाने को ग्रामीण मजबूर हैं। एडवोकेट सम्यक की पिटीशन राष्ट्रपति भवन ने मध्यप्रदेश सीएम हेल्पलाइन के लिए फॉरवर्ड की और सीएमओ को जल्द निराकरण कराने के निर्देश दिए। फिर सीएमओ ने डिंडौरी जनपद पंचायत सीईओ को पत्र भेजकर आदेशित किया कि केवलारी रैयत में मूलभूत सुविधाओं की व्यवस्था और विस्तार किया जाए। सीईओ ने संबंधित विभागों को आधिकारिक पत्र भेजकर जल्द कार्य शुरू कराने को कहा। स्वास्थ्य सेवाओं के लिए स्वास्थ्य विभाग, पक्की सड़क के लिए पीएम ग्राम सड़क योजना, खरमेर नदी पर पुल के लिए लोक निर्माण विभाग, विद्युत व्यवस्था के लिए एमपीईबी, पेयजल व हैंडपंप के लिए लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग सहित अन्य विभागों को निर्देशित किया गया है।

बता दें कि 19 जून 2020 को डिंडौरीडॉटनेट ने केवलारी रैयत के संगम टोला और कछरा टोला की समस्याओं को प्रमुखता से प्रकाशित/प्रसारित किया था।



लैटर पिटीशन में एडवोकेट सम्यक ने क्या लिखा?

सरकार 'डिजिटल इंडिया' का जोर-शोर से प्रचार-प्रसार कर रही है, लेकिन सरकार के वादे-दावे और हकीकत अलग हैं। डिंडौरी जनपद के दो गांवों में आजादी के वर्षों बाद भी करीब 80 परिवार सड़क, पानी, बिजली, पुल, स्वास्थ्य सेवाओं जैसी बुनियादी सुविधाओं से वंचित हैं। डिंडौरी के कॉलेजों में अध्ययनरत गांव के युवा कहते हैं कि उनके दादा-दादी, नाना-नानी के समय भी गांव में यही समस्याएं कायम थीं, जो आज भी बरकरार हैं। इसे लेकर एडवोकेट सम्यक ने राष्ट्रपति भवन तक बात पहुंचाई और निराकरण का निवेदन किया था।



Comments
Popular posts
PUBLIC CONCERN | 'जबरन स्कूल का टॉयलेट साफ कराती हैं हेड मास्टर, मना करने पर मारती हैं... इसलिए स्कूल जाना छोड़ा', बजाग के पड़रिया डोंगरी प्राइमरी स्कूल के तीसरी के छात्र ने HM मंजूलता रौतेल पर लगाया आरोप
Image
IMP UPDATE | डिंडौरी में अब शुक्रवार को नहीं, शनिवार को होगा रावण का पुतला दहन, नगर परिषद ने स्थानीय समितियों और नागरिकों की मांग पर लिया फैसला
Image
DEVOTIONAL MUSIC | सुप्रसिद्ध आल्हा गायिका संजो बघेल ने नवरात्र पर मेहंदवानी के सारसडोली में बहाई भक्ति रस की धारा, माता के चरणों में अर्पित किया सुरों का चढ़ावा
Image
DDN UPDATE | डिंडौरी में सक्रिय वाहन चोर गिरोह के कब्जे से कोतवाली पुलिस ने बरामद की तीन बाइक, सभी आरोपी गिरफ्तार
Image
NEGATIVE NEWS | बजाग ब्लॉक के झिंझरी में स्टेट हाइवे पर कोयले से लदे तेज रफ्तार ट्रक ने बाइक को रौंदा, दो युवकों की मौत
Image